Skip to toolbar

जानिए कैसे पाए माँ भगवती की असीम अनुकम्पा? कैसे पाए हर कष्ट से छुटकारा !

Spread the love

आज की दोड़ती भागती जिंदगी में हम सभी के पास कोई न कोई परेशानी अवय्श्य है, अपनी परेशानियों के अंत के लिए हम कोई न कोई कार्य अवश्य करते है। परन्तु कई बार लाख कोशिशों के बाद भी हमारे कष्टों का निवारण नहीं हो पाता।

आज हम एक रहस्य आपको यहाँ बता रहे है जिससे की आपके कष्टों का निवारण हो सकता है।

तो जानिए कैसे पाए हर कष्ट से छुटकारा ! ऐसा क्या करे जिससे की भगवान् की कृपा आप पर भी हो जाये।

बहुत ही आसान है क्यूंकि इसके लिए हमे करना है माँ भगवती को प्रसन्न। ये जीवन उन्ही की देन है। हमारी सभी आशाओं का आधार है माँ भगवती।

अब सवाल ये है की कैसे पाए माँ भगवती की असीम अनुकम्पा?

इसके लिए हमे माता भगवती के 108 नाम को जानना होगा

जिनसे माता रानी को प्रसन्न किया जा सकता है। यदि उनके इन नामो का रोजाना आप जाप करते है तो माता रानी की असीम अनुकम्पा आपके साथ सदैव रहती है, और माँ सदैव सभी कष्टों को हर लेती है।

श्री दुर्गाष्टोत्तरशतनामस्रोत्र – श्री दुर्गा के 108 नाम

ॐ सती
साध्वी
भवप्रीता
भवानी
भवमोचनी
आर्या
दुर्गा
जया
आद्या
त्रिनेत्रा
शूलधारिणी
पिनाकधारिणी
चित्रा
चण्डघण्टा
महातपा
मन
बुद्धि
अहंकारा
चित्तरूपा
चिता
चिति
सर्वमन्त्रमयी
सत्ता
सत्यानंदस्वरूपिणी
अनंता
भाविनी
भव्या
अभव्या
सदागति
शाम्भवी
देवमाता
चिंता
रत्नप्रिया
सर्वविद्या
दक्षकन्या
दक्षयज्ञविनाशिनी
अपर्णा
अनेकवर्णा
पाटला
पाटलावती
पट्टाम्बरपरिधाना
कलमंजरीरंजिनी
अमेयविक्रमा
क्रूरा
सुन्दरी
सुरसुन्दरी
वनदुर्गा
मातंगी
मतंगमुनिपूजिता
ब्राह्मी
माहेश्वरी
एंद्री
कौमारी
वैष्णवी
चामुंडा
वाराही
लक्ष्मी
पुरुषाकृति
विमला
उत्कर्षिनी
ज्ञाना
क्रिया
नित्या
बुद्धिदा
बहुला
बहुलप्रिया
सर्ववाहनवाहना
निशुंभशुंभहननी
महिषासुरमर्दिनी
मधुकैटभहंत्री
चंडमुंडविनाशिनी
सर्वसुरविनाशा
सर्वदानवघातिनी
सर्वशास्त्रमयी
सत्या
सर्वास्त्रधारिनी
अनेकशस्त्रहस्ता
अनेकास्त्रधारिनी
कुमारी
एककन्या
कैशोरी
युवती
यत‍ि
अप्रौढ़ा
प्रौढ़ा
वृद्धमाता
बलप्रदा
महोदरी
मुक्तकेशी
घोररूपा
महाबला
अग्निज्वाला
रौद्रमुखी
कालरात्रि
तपस्विनी
नारायणी
भद्रकाली
विष्णुमाया
जलोदरी
शिवदुती
कराली
अनंता
परमेश्वरी
कात्यायनी
सावित्री
प्रत्यक्षा
ब्रह्मावादिनी।

maa-bhagwati-vatspedia.jpg

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *